जयपुर। सत्ताधारी कांग्रेस में चल रही मंत्रिमंडल में बदलाव की उठापटक के बीच गहलोत सरकार ने राजस्थान प्रशासनिक सेवा के 283 अफसरों के तबादले कर दिए हैं। मंत्रिमंडल में पहले फेरबदल से पहले प्रशासनिक तंत्र में यह सबसे बड़ा बदलाव है।284 ् अफसरों के तबादलों में सरकार ने उन 98 स्थानों पर अफसरों को तैनात किया है, जो पिछले काफी समय से रिक्त पड़े थे। इनके अलावा बड़ी संख्या में जिलों के ग्रामीण क्षेत्रों में तैनात उपखंड अधिकारियों को भी बदला गया है। यानी जिलों में तैनात 111 एसडीएम बदल दिए गए हैं। शहर और ग्रामीण क्षेत्र की प्रशासनिक सरकार में बड़ा बदलाव करके गहलोत यह संकेत देना चाहते हैं कि मंत्रिमंडल में फेरबदल के बाद चाहे जो भी मंत्री बने, अफसर उनके हिसाब से ही काम करेंगे।
सरकार ने प्रियंका गोस्वामी को जीएडी से हटाकर राज्य सूचना आयोग में सचिव बनाया है। यूडीएच में संयुक्त सचिव त्रिभुवनपति को कॉलेज शिक्षा में अतिरिक्त आयुक्त की जिम्मेदारी दी है। जेडीए में अतिरिक्त आयुक्त श्रुति भारद्वाज को जल संसाधन में संयुक्त सचिव लगाया गया है। सरकार ने तीन जिलों में नए डीएसओ भी नियुक्त किए हैं। वहीं ​​​​​​​अजीजुल हसन गौरी आयुक्त नगर निगम बीकानेर से एडी. डीसी बीकानेर, राणीदान बारैठ, रजिस्ट्रार बीकानेर यूनिवर्सिटी से उपायुक्त आईजीएनपी बीकानेर, ​​​​​​​रामस्वरूप चौहान, सीईओ जिला परिषद सवाई माधोपुर राजस्व अपील अधिकारी बीकानेर, भागीरथ साख उपखंड अधिकारी लूणकरनसर से अतिरिक्त जिला कलक्टर एवं अतिरिक्त जिला मजिस्टेट नोहर ,यशपाल आहूजा उपखंड अधिकारी फलौदी से रजिस्ट्रार बीकानेर विश्वविद्यालय बीकानेर लगाया गया है। वहीं दौलतराम उपखंड अधिकारी सोजत को उपखंड अधिकारी लूणकरनरसर लगाया गया। सुश्री सीता शर्मा उपखंड अधिकारी नोखा से उपखंड अधिकारी पूगल महेन्द्र सिंह यादव के स्थान पर लगाया गया है। अशोक कुमार सहायक निदेश लोकसेवाएं को उपखंड अधिकारी बीकानेर उत्तर लगाया गया। श्रीसुश्री सुमन शर्मा तहसीलदार सेवा से राजस्थान प्रशासनिक सेवा में पदोन्नत होने पर उपायुक्त नगर निगम बीकानेर द्वितीय पर लगाया गया है। सुश्री स्वाती गुप्ता को उपखंड अधिकारी नोखा लगाया गया है।