जयपुर। जयपुर में शुक्रवार दोपहर को निर्माणाधीन फैक्ट्री की दीवार गिरने से 4 मजदूरों की मौत हो गई। फैक्ट्री की दीवार को 15 फीट से ऊंची बना चुके थे। शुक्रवार दोपहर मजदूर खाना खाने के बाद दीवार पर काम करने चढ़े तो भरभरा कर ढह गई। हादसे में 4 अन्य मजदूर घायल हो गए। हादसे की सूचना पर सिविल डिफेंस की टीम व सांगानेर सदर पुलिस मौके पर पहुंची। मलबे में दबे मजदूरों को बाहर निकाला गया। उन्हें एसएमएस अस्पताल में पहुंचाया। तबतक पति-पत्नी सहित चार की मौत हो गई थी। DCP हरेंद्र महावर, सांगानेर SDM भी वहां पहुंचे। सांगानेर सदर पुलिस ने फैक्ट्री मालिक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

 

मरने वालों में ठेकेदार व उसकी पत्नी भी

 

सांगानेर सदर थानाधिकारी हरीपाल सिंह ने बताया कि हादसे में अर्जुन लाल उर्फ बाबूलाल (55) पुत्र श्रवण निवासी बस्सी अरनिया टोंक, उसकी पत्नी संतोष (50), नंदराम (62) पुत्र रामकरण निवासी मीणों की ढाणी ग्वार ब्राह्मण, बृजमोहन (40) पुत्र बद्री रेगर निवासी मीत्रपुरा, बौंली सवाईमाधोपुर की मौत हो गई। सावित्री पत्नी बृजमोहन रेगर, उग्मा पत्नी रमेश बंजारा, पार्वती पत्नी हनुमान बैरवा, चुकी देवी पत्नी गोविंद बंजारा घायल हो गए। ये सभी कोकावास सांगानेर सदर जयपुर के रहने वाले हैं।

 

टोंक रोड पर चल रहा था निर्माण

 

थानाधिकारी हरीपाल सिंह ने बताया कि टोंक रोड पर वाटिका में गवार ब्राह्मण गांव में फैक्ट्री मालिक गिरीश निर्माण करवा रहा था। वहां पर चार मिस्त्री व चार मजदूर काम कर रहे थे। फैक्ट्री निर्माण कार्य कई दिनों से चल रहा था। दीवार करीब 15 फीट से ऊंची हो चुकी थी। दीवार पर मजदूर प्लास्टर करने का काम कर रहे थे। प्लास्टर करने के लिए दीवार के पास बल्लियों की एक सपोर्ट लगाया गया था। दोपहर को खाना खाकर मजदूर वापस काम करने के लिए चढ़ गए। तभी अचानक दीवार ढह गई। 7 मजदूर मलबे में दब गए।

 

चीख-पुकार मच गई

 

चारों तरफ दीवार की ईंटें दिखाई दे रही थीं। मजदूरों की अंदर से चीखने की आवाजें आ रही थीं। मजदूरों की चीख-पुकार सुनकर आसपास के लोग मदद को आ पहुंचे। सांगानेर सदर पुलिस भी पहुंची। मदद के लिए वहां पर सिविल डिफेंस की टीम को भी लगाया गया। मजदूरों के सिर में ईंट से काफी चोटें आई हैं। एक-एक कर मजदूरों को बाहर निकाल कर अस्पताल पहुंचाया गया। ठेकेदार बाबूलाल व उसकी पत्नी, नंदराम की हालत नाजुक थी। तीनों की अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई।

 

एसडीएम ने दिए जांच के आदेश

 

वाटिका में जहां पर फैक्ट्री बनाई जा रही थी, वो जगह कृषि भूमि है। सांगानेर SDM ने कृषि भूमि पर बिना अनुमति फैक्ट्री बनाए जाने को लेकर जांच के आदेश दिए हैं। उन्होंने तहसीलदार व पटवारी को कहा कि फैक्ट्री किसके आदेश से बनाई जा रही थी। अनुमति ली थी या नहीं ली थी। इसकी जांच रिपोर्ट बना कर पेश करें। वहीं सांगानेर पुलिस ने भी फैक्ट्री मालिक के खिलाफ लापरवाही का मुकदमा दर्ज कर लिया है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।