बीकानेर,मानवता को जगाने का नाम अणुव्रत है। अणुव्रत इन्सान को इंसान बनाने और उसे अपने दायित्वों का बोध कराने का अभियान है। यह मंगल उदबोधन शासनश्री साध्वी श्री बसंतप्रभा जी ने अणुव्रत समिति, श्रीडूंगरगढ़ के सत्र 2021-2023 हेतु निर्वाचित नई टीम के शपथ ग्रहण समारोह में प्रदान किया। साध्वीश्री ने कहा कि अणुव्रत को व्यक्ति अपने जीवन में अपनाकर श्रेष्ठ व्यक्तित्व को अंगीकार करता है। साध्वी श्री गुप्तिप्रभा जी ने अणुव्रत की व्यापकता पर प्रकाश डाला। साध्वी श्री संकल्पश्री जी ने अणुव्रत की वर्तमान समाज में उपयोगिता के संदर्भ में विचारोभिव्यक्ति दी। कार्यक्रम का शुभारंभ संगठन मंत्री राजू हीरावत ने अणुव्रत गीत के संगान के साथ किया। समिति के अध्यक्ष विजयराज सेठिया को श्रीडूंगरगढ़ के प्रथम नागरिक मानमल शर्मा ने अध्यक्ष पद की शपथ ग्रहण करवाई। तत्पश्चात अध्यक्ष ने सम्पूर्ण टीम को शपथ ग्रहण करवाई। नगरपालिका अध्यक्ष मानमल शर्मा ने इस अवसर पर अपने भावों की अभिव्यक्ति करते हुए कहा कि अणुव्रत जन-जन का अभियान है। अणुव्रत समिति श्री डूंगरगढ़ के अध्यक्ष श्री विजयराज सेठिया ने अणुव्रत समिति द्वारा आगामी कार्यक्रमों की जानकारी प्रदान करते हुए एकजुट होकर कार्य करने की बात कही। समिति के परामर्शक तुलसीराम चौरड़िया ने अपना वक्तव्य दिया। आज के इस कार्यक्रम विशिष्ट अतिथि श्री माणकचंद पुगलिया और समिति के संरक्षक श्री विजयसिंह पारख, माकपा नगर अध्यक्ष श्री रामेश्वरलाल बाहेती, श्रीमहावीर प्नसाद माली, श्री मनोज गुसाईं, सत्यनारायण स्वामी, श्री विजय महर्षि श्री शुभकरण पारीक श्री संजय पारीक सहित कई गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन समिति के मंत्री के.एल. जैन ने किया।