बीकानेर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने कोरोना वायरस (Corona Virus) की संभावित तीसरी लहर (Corona Third Wave) की रोकथाम के लिये कोविड-19 प्रोटोकाल (Covid-19 Protocol) का सख्ती से पालन किये जाने की आवश्यकता पर बल दिया। मुख्यमंत्री ने श्रृंखलाबद्ध ट्वीट के जरिये कहा कि बीते दिनों देशभर में मामलों की संख्या बढ़ रही है जो चिंता का विषय है। कई रिपोर्ट्स का कहना है कि अगस्त के आखिर तक भारत में तीसरी लहर की शुरुआत हो जाएगी। उन्होंने कहा कि राजस्थान में अभी स्थिति पूरी तरह काबू में है और प्रदेश में फिलहाल सिर्फ 220 मरीज उपचाराधीन हैं और यह संख्या लगातार कम हो रही है, प्रदेश में प्रतिदिन रोगियों की संख्या भी 10 से 50 के बीच है।गहलोत ने कहा कि परन्तु कोरोना वायरस ने जिस तरह पश्चिमी देशों इत्यादि में पुन: रफ्तार पकड़ी है उसे देखकर पूरी सावधानी बरतने की आवश्यकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘विशेषज्ञों के मुताबिक कोरोना संक्रमण के फैलने की स्थिति को जांचने का वैज्ञानिक पैमाना रिप्रोडक्टिव फैक्टर (आर फैक्टर) है। आर फैक्टर से पता चलता है कि एक संक्रमित मरीज कितने अन्य लोगों को संक्रमित कर सकता है। इस आर फैक्टर का एक से नीचे रहने पर वायरस का प्रसार धीमा माना जाता है।’

उन्होंने कहा कि फिलहाल देश के आठ राज्यों और केन्द्र प्रशासित प्रदेशों में यह आर फैक्टर एक से अधिक है। पूरे देश में आर फैक्टर 1.2 है। यह दिखाता है कि कोरोना की दूसरी लहर अभी पूरी तरह खत्म नहीं हुई है। उन्होंन कहा कि बीते दिनों में देशभर में मामलों की संख्या बढ़ रही है जो चिंता का विषय है। कई रिपोर्ट्स का कहना है कि अगस्त के आखिर तक भारत में तीसरी लहर की शुरुआत हो जाएगी।