बीकानेर, भारतीय प्रजापति हीरोज ऑर्गेनाइजेशन राजस्थान के प्रदेश संयोजक एडवोकेट अशोक प्रजापत ने एमबीबीएस / एमडी / एमएस / डिप्लोमा / बीडीएस / एमडीएस में प्रवेश हेतु अखिल भारतीय कोटा (एआईक्यू) में ओबीसी के लिए 27% आरक्षण नहीं दिए जाने पर BPHO के पदाधिकारी निरंतर प्रयासरत रहे प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी के दूरदर्शी मार्गदर्शन में वर्तमान शैक्षणिक वर्ष 2021 से स्नातक और स्नातकोत्तर चिकित्सा / दंत चिकित्सा पाठ्यक्रमों (एमबीबीएस / एमडी / एमएस / डिप्लोमा / बीडीएस / एमडीएस) के लिए अखिल भारतीय कोटा (एआईक्यू) योजना में ओबीसी के लिए 27% आरक्षण देने का ऐतिहासिक निर्णय लिया है। आदरणीय प्रधान मंत्री के नेत्रत्व में यह निर्णय पिछड़े वर्ग समाज को उचित आरक्षण प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार की प्रतिबद्धता को प्रतिबिंबत है। इस निर्णय से देशभर में पिछड़े वर्ग के लोग हजारो की संख्या में प्रतिवर्ष लाभान्वित होंगे | bpho प्रधानमंत्री का इस निर्णय के लिए आभार व्यक्त करते है। भारतीय प्रजापति हीरोज ऑर्गेनाइज़ेशन राष्ट्रीय सचिव किशन संवाल ने बताया कि केंद्र सरकार के इस निर्णय से हजारों ओबीसी के विद्यार्थी डॉक्टर बनेंगे एवं 10 प्रतिशत ईडब्ल्यूएस के निर्णय से सामान्य वर्ग के कमजोर और आर्थिक पिछड़े व्यक्तियों को डॉक्टर बनने का अवसर मिलेगा भारत सरकार के इस निर्णय के लिए सम्पूर्ण देश के ओबीसी समाज की और से धन्यवाद करता हूँ | भारतीय प्रजापति हीरोज ऑर्गेनाइजेशन के जिलाध्यक्ष टी.सी. कुमावत ने बताया कि बी पी एच ओ लंबे समय से नीट में केंद्रीय कोटे में ओबीसी आरक्षण की मांग को लेकर प्रयासरत था यह संघर्ष की जीत है सभी साथियों सहित में केंद्र सरकार का आभार व्यक्त करता हूं