• बीकानेर भगवान जगन्नाथ स्वामी जी के रथ यात्रा महोत्सव के अंतर्गत कोटगेट स्थित श्री जगन्नाथ मंदिर में 12 जुलाई को महोत्सव शुरू होने के साथ ही लगातार नौ दिनों तक धार्मिक आयोजनों का सिलसिला निरंतर जारी रहा।

मंगलवार को रूटे भगवान जगन्नाथ स्वामी वापस अपने धाम पहुंचे।

श्री जगन्नाथ जी की रथ यात्रा की वापसी पर आरती  संगीतमय भजन कीर्तन हुआ।

सायंकाल महारती आयोजित हुई  महाप्रसाद का वितरण किया गया,इसके अलावा श्री जगन्नाथ मंदिर ट्रस्ट द्वारा शीतल शरबत भक्तों को वितरित किया गया। मंगलवार को ब्राह्मण भोज, कन्या भोज और महाप्रसाद के वितरण के साथ ही रथयात्रा महोत्सव का समापन हुआ

श्री जगन्नाथ मंदिर समिति के घनश्याम लखाणी,

देवशंकर जी,अनील सोनी झूमर सा,सोनू राजआसुदानी ने बताया कि बीकानेर व्यापार उद्योग मंडल के मुख्य संरक्षक शिवरतन अग्रवाल फन्ना  बाबू की तरफ से कोरोना गाईड लाईन का पालन करते हुए 9 दिनों तक लगातार  श्री जगन्नाथ मंदिर में विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम आयोजित किए गए। भक्तों ने बाहर से ही प्रभु के दर्शन किए।

करोना काल को देखते हुए इस वर्ष भी शोभायात्रा नहीं निकली।

भगवान जगन्नाथ महाप्रभु गर्भ स्थान से बाहर आकर सुसज्जित रथ पर विराजे और भक्तों ने हर रोज बाहर से दर्शन कर पुण्य लाभ अर्जित किया। बीकानेर व्यापार उद्योग मंडल की ओर से मंदिर आने वाले सभी भक्तों को शुद्ध देसी घी की बूंदी  वितरित की।