बीकानेर। अगर आप स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के ग्राहक हैं तो आपके लिए बहुत जरूरी सूचना है। देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक यानी SBI ने अपने 44 करोड़ ग्राहकों के लिए एक अलर्ट मैसेज जारी किया है। एसबीआई ने KYC के नाम पर होने वाले फ्रॉड को लेकर आगाह किया है। बैंक ने ट्विटर के जरिए अपने ग्राहकों को इससे सावधान रहने की कहा है। बैंक ने अपने पोस्ट के माध्यम से कहा कि जालसाज अपने नो योर कस्टमर यानी केवाईसी (KYC) वेरिफिकेशन के नाम पर लोगों को ठग रहे हैं। बता दें कि SBI के सभी ग्राहकों को 30 जून तक KYC करना अनिवार्य है, यदि कोई ग्राहक नहीं करते हैं तो उनका बैंक अकाउंट सस्पेंड हो सकता है। और क्या है खास बैंक के अनुसार, जालसाज आपके पर्सनल डिटेल लेने के लिए बैंक/कंपनी के प्रतिनिधि होने का नाटक करते हैं, और एक मैसेज भेजा जाता है। इस मैसेज के चक्कर में ग्राहक भूल कर भी न पड़े और केवाईसी के लिए किसी लिंक पर क्लिक न करें। साथ ही अगर किसी ग्राहक के साथ यह होता है तो इसकी जानकारी साइबर क्राइम को तुरंत दें। बैंक ने कहा- 1.किसी भी अनजान लिंक पर क्लिक करने से बचें।2.बैंक KYC अपडेट के लिए कभी भी लिंक नहीं भेजता। किसी से भी अपना मोबाइल और पर्सनल जानकारी शेयर नहीं करें। गौरतलब है कि कोरोना महामारी के बीच SBI ने अपने खाताधारकों को KYC डॉक्यूमेंट को ऑनलाइन अपडेट करने की सुविधा दी थी। KYC अपडेट के लिए कस्टमर की ओर से अपना एड्रेस प्रूफ और पहचान पत्र रजिस्टर्ड ईमेल या पोस्ट के जरिए भेजना होगा।आप उसी मेल आईडी से अपने डॉक्यूमेंट भेजें, जिसे आपने बैंक में अपडेट करा रखा होगा। उस ईमेल से बैंक ब्रांच के ईमेल एड्रेस पर कागजात की स्कैन कॉपी भेजनी होगी।