बीकानेर,आज के समय मे भी ईमानदार व्यक्तियों की कमी नही है। ऐसा ही मामला बीकानेर में सामने आया जहां एक युवक देवराज चारण गांव सिंथल को सड़क पर 9200 रुपये पड़े मिले।इसके बाद फोटो पत्रकार दिनेश गुप्ता से संपर्क किया यह राशि सही हाथों में पहुंचे इसके बारे में विचार विमर्श किया जिसके बाद युवक ने आखिरकार 2 दिन बाद जिसके रुपये थे उनको उनके पैसे लोटा दिया। देवराज चारण ने पैसे लौटकर एक मिसाल कायम की ।कहते है पैसा ही सबकुछ होता है और बड़े बड़े इंसान में ये पैसा लालच पैदा कर देता है। लेकिन बिकानेर के देवराज चारण ने पैसे का लालच नही लेकर अपनी ईमानदार का परिचय दिया। दरअसल देवराज अपने काम से फड बाजार की और से आ रहे थे उसी दौरान उन्हें सड़क पर रुपयों की एक गड्डी मिली। जिसके बाद युवक ने पैसे उठाकर आसपास के लोगो से किसी के पैसे होने के बारे में पूछा लेकिन कोई संतुष्ट जवाब नही मिलने के बाद युवक देवराज ने पास की दुकान पर अपने फोन नम्बर छोड़ दिये। जिसके बाद 2 दिन बाद किसी ने दुकानदार से संपर्क कर पैसे खोने के बात बताई। जिसके बाद देवराज के नंबर पर बात कर अपने पेसो की डीटेल बताई। और युवक ने अपनी ईमानदारी को दिखाते हुए उनको पैसे लोटा दिए। दरअसल फड बाजार में ही जूतों की दुकान पर काम करने वाले किशन गिडवानी के ये पैसे थे। घर जाते समय उनकी जेब से रुपये निकल कर गिर गए। उन्होंने उम्मीद छोड़ दी थी कि उन्हें वापस पैसे मिलेंगे । लेकिन युवक के नम्बर मिलने के बाद और अपने पैसे वापस मिलने पर देवराज चारण की ईमानदारी को देखकर काफी खुश नजर आएं । इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आज के समय मे इस तरह के ईमानदार लोग बहुत कम है। और उन्होंने देवराज चारण को साधुवाद देते हुए आगे बढ़ने का आशिर्वाद भी दिया। बहराल इस वाकये से ये तो साबित हो गया कि ईमानदारी आज भी जिंदा है। कुछ लोगो के कारण थोड़ी ईमानदारी पर सवाल खड़े होते है लेकिन देवराज जैसे युवक भी है जो अपनी ईमानदारी का लोहा मनवाते है। वही किशन गिडवानी ने युवक का आभार जताते हुए उनका मिठाई खिलाकर मुह भी मीठा करवाया।