बीकानेर ,केंद्रीय गृहमंत्रालय की ओर से शुरू की गई राष्ट्रीय हेल्पलाइन 155260 की मदद से साइबर ठगी के शिकार लोगों को उनका पैसा वापस मिलने लगा है। नई दिल्ली, केंद्रीय गृहमंत्रालय की ओर से शुरू की गई राष्ट्रीय हेल्पलाइन 155260 की मदद से साइबर ठगी के शिकार लोगों को उनका पैसा वापस मिलने लगा है। पिछले तीन महीने में ठगी के शिकार लोगों को 3.13 करोड़ रुपये वापस कराये जा चुके हैं। यह हेल्पलाइन नंबर एक अप्रैल को सात राज्यों में लांच किया गया था और 16 जून को पूरे देश के लिए इसे खोल दिया गया है। अभी तक 15 राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में यह हेल्पलाइन नंबर काम कर रहा है। इस हेल्पलाइन पर ठगी की शिकायत मिलने के तत्काल बाद शिकायत नंबर के साथ विस्तृत जानकारी उस बैंक या वालेट के पास भेज दी जाती है, जिस बैंक में ठगी का पैसा गया होता है। बैंक के सिस्टम में यह जानकारी फ्लैश करने लगती है। यदि पैसे संबंधित बैंक या वालेट के पास ही हैं, तो वह उसे तत्काल फ्रीज कर देगा। यदि पैसा किसी और बैंक या वालेट में चला गया हो तो वह उस संबंधित बैंक या7 वालेट को भेज देगा। यह प्रक्रिया तब तक चलती रहेगी, जब तक उस पैसे की पहचान कर उसे फ्रीज नहीं कर दिया जाता। वहीं दूसरी ओर शिकायतकर्ता को एसएमएस से शिकायत दर्ज किये जाने की सूचना और इसका एक नंबर दिया जाएगा और साथ ही 24 घंटे के भीतर नेशनल साइबरक्राइम रिपोर्टिग पोर्टल पर ठगी की विस्तृत जानकारी देने का निर्देश दिया जाएगा। साइबर ठगी शिकार लोगों केंद्रीय गृह मंत्रालय हेल्पलाइन बना मददगार