बीकानेर / नीट परीक्षा सहित एमबीबीएस / एमडी / एमएस / डिप्लोमा / बीडीएस / एमडीएस में प्रवेश हेतु अखिल भारतीय कोटा (एआईक्यू) में ओबीसी के लिए 27% आरक्षण दिए जाने के लिए चल रहा लम्बा संघर्ष आखिर सफल हुआ ।

भाजपा नेता डॉ अशोक भाटी ने बताया कि आदरणीय प्रधान मंत्री के नेतृत्व में ओबीसी के पक्ष में लिया गया यह निर्णय पिछड़े वर्ग को उचित प्रतिनिधित्व की दिशा में आरक्षण प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाता है।

नीट परीक्षा में ओबीसी आरक्षण को लेकर लम्बे समय से संघर्षरत रहे ऑल इंडिया बैकवर्ड क्लासेज फेडरेशन के प्रदेश विधि सलाहकार अधिवक्ता निमेष सुथार ने कहा कि प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी के दूरदर्शी मार्गदर्शन में नीट परीक्षा सहित स्नातक और स्नातकोत्तर चिकित्सा / दंत चिकित्सा पाठ्यक्रमों (एमबीबीएस / एमडी / एमएस / डिप्लोमा / बीडीएस / एमडीएस) के लिए अखिल भारतीय कोटा (एआईक्यू) योजना में ओबीसी के लिए 27% आरक्षण देने का ऐतिहासिक निर्णय लिया है जो स्वागत योग्य है ।

भाजपा ओबीसी मोर्चा बीकानेर देहात अध्यक्ष भँवर जांगिड ने सरकार के इस निर्णय को स्वर्ण निर्णय बताते हुए कहा कि इससे देशभर में पिछड़े वर्ग के लोग हजारो की संख्या में लाभान्वित होंगे |

भाजपा से जुडे ओबीसी नेताओं डॉ अशोक भाटी, भँवर जांगिड, राजाराम विश्नोई, एडवोकेट निमेष सुथार, हुक्माराम सोनी, मदन स्वामी, पार्षद, वीरेंद्र करल, जगदीश भार्गव, देवेन्द्र सिंह बिठू, हरि सुथार देशनोक, अमित सोनी, छगन प्रजापत कोलायत, अशोक प्रजापत, अमित सोलंकी, पवन सुथार सहित ओबीसी संगठनो ने भी नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार के इस निर्णय का स्वागत किया और पिछड़े वर्ग की ओर से केंद्रीय नेतृत्व का आभार जताया।