नागौर। नागौर में नाबालिग लडक़ी से दुष्कर्म का मामला सामने आया है। आरोपी रोल कस्बे में

नाबालिग लडक़ी को जबरदस्ती उठा कर ले गए और बेहोश कर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। आरोपियों ने उसके साथ बारी-बारी दुष्कर्म करने के

बाद उसे एक कमरे में बंद कर ताला लगा दिया और फरार हो गए। जब थोड़ी देर बाद लडक़ी को होश आया और वो चिल्लाई तो आस-पड़ोस के लोगों ने

मौके पर पुलिस को बुलाकर ताला तुड़वाया और लडक़ी को बाहर निकाला। बाहर आते ही लडक़ी ने चीख-चीख कर आरोपियों की कारस्तानी और

आपबीती सभी को बताई। बच्ची के पिता की रिपोर्ट पर आरोपी युवकों के खिलाफ नामजद मामला दर्ज कर लिया गया है। एक आरोपी नाबालिग है और

दोनों आरोपी रिश्ते में मामा के बेटे भाई हैं।
मंगलवार को लडक़ी गांव के सरकारी स्कूल में किताबें जमा करवाने गई थी। जब वो किताबें जमा करवाकर वापस अपने घर जा रही थी तो वहां पहले से

घात लगाकर मोटरसाइकिल पर बैठे प्रदीप सैन पुत्र महेंद्र सैन (22) व एक नाबालिग लडक़े ने उसे पकडक़र मुंह में कपड़ा ठूंस दिया और मोटरसाइकिल

पर बैठाकर एक सुने पड़े मकान में ले गए। वहां उन्होंने युवती को कमरे में बंद कर नशीला पदार्थ पिलाकर बेहोश कर दिया। इसके बाद दोनों आरोपियों ने

उसके साथ बारी-बारी दुष्कर्म किया। जब दोनों का पूरी तरह मन भर गया तो वो पीडि़ता को वहीं कमरे में बंद कर ताला लगाकर भाग गए।
होश आते ही चिल्लाई पीडि़ता, पड़ोस के लोगों ने पुलिस को बुलवाकर तोड़ा ताला
थोड़ी देर बाद पीडि़ता को होश आया और उसने अपनी हालत को देखा तो वो डर गई और उसने कमरे का दरवाजा खोल बाहर निकलने का प्रयास किया,

लेकिन बाहर ताला लगा होने से निकल नहीं पाई। इसके बाद वो जोर-जोर से चिल्लाने लगी तो आस-पड़ोस और रास्ते से निकल रहे लोगों की भारी भीड़

वहां जमा हो गई। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने कमरे का ताला तोड़ पीडि़ता को बाहर निकाला।
ीडि़ता ने बताई आरोपियों की कारस्तानी
पीडि़ता बाहर आते ही रो पड़ी और चीखने-चिल्लाने लगी। इसके बाद थोड़ा दिलासा दिए जाने और उसके पिता के मौके पर पहुंचने के बाद पीडि़ता ने अपने

साथ हुई आपबीती सबके सामने उजागर कर दी। अब पीडि़ता के पिता की शिकायत पर दोनों आरोपियों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कर लिया गया

है और पुलिस ने आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।