बीकानेर। उच्च शिक्षा मंत्री श्री भँवर सिंह भाटी ने शनिवार को किल्लचू देवडान के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में 41.48 लाख की लागत से नव निर्मित 05 कक्षा-कक्षों, राजकीय माध्यमिक विद्यालय गीगासर में 17.38 लाख की लागत के 2 तथा आम्बासर के राजकीय माध्यमिक विद्यालय में 28.36 लाख रुपये की लागत के तीन कक्षा कक्षों का लोकार्पण किया।

उच्च शिक्षा मंत्री भाटी ने राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय किल्लचू देवड़ान में आयोजित समारोह में कहा कि श्रीकोलायत विधानसभा क्षेत्र का सर्वांगीण विकास उनकी सर्वाेच्च प्राथमिकता है। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में कोलायत विधानसभा क्षेत्र के हर गांव-ढाणी में विकास के नए आयाम स्थापित हुए हैं। कोरोना संक्रमण की प्रतिकूल परिस्थितियों के बावजूद मुख्यमंत्री ने विकास की गति को थमने नहीं दिया है।

भाटी ने कहा कि मुख्यमंत्री के कोरोना प्रबंधन को पूरे देश में सराहा गया है। इस दौरान प्रदेश में चिकित्सकीय सुविधाओं में ढांचागत विकास हुआ है। उन्होंने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में भी बेहतर कार्य हो रहे हैं। दूरस्थ गांव-ढाणी में नए स्कूल खोले गए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा पूर्व में जिला स्तर और फिर ब्लॉक स्तर पर महात्मा गांधी अंग्रेजी स्कूल खोले गए थे। अब पांच हजार से अधिक आबादी वाले गांवों में भी महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम स्कूल खोले जाने की बजट में घोषणा की गई है। इससे ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों को भी अंग्रेजी माध्यम में अध्ययन का अवसर मिलेगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत की मंशा है कि युवाओं को रोजगापरक शिक्षा मिले। उन्होंने शाला परिसर मंे पौधारोपण भी किया।

इस अवसर पर समसा के अतिरिक्त जिला समन्वयक हेतराम ने कहा कि विद्यालयों के ढ़ाचागत विकास के लिए विभाग स्तर पर धन राशि खर्च की जा रही है। मंत्री भाटी के प्रयासों से विद्यालय में 5 हॉल मय बरामदा का निर्माण हुआ है। इससे विद्यार्थियों को अध्ययन करने में आसानी होगी। स्कूलों के विकास के लिए उन्होंने भामाशाओ को भी आगे आने की अपील की।

शाला की प्राचार्य प्रेरणा चौधरी ने महाराजा गंगासिंह विश्व विद्यालय द्वारा गांव को गोद लिए जाने की आवश्यता जताई। ग्रामीणों ने गांव में पेयजल हेतु नहरी पानी उपलब्ध कराने, नापासर-देशनोक सड़क पर हुए अतिक्रमण हटाने और गांव में खेल मैदान स्वीकृत करवाने की मांग रखी।

गीगासर में आयोजित कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि गीगासर की पेयजल समस्या के समाधान के लिए यहां नई टंकी बनाई जाएगी तथा यहां के स्कूल को 12 वीं तक क्रमोन्नत करवाया जाएगा। इस दौरान उन्होंने गीगासर की माध्यमिक स्कूल में 3 और नए कमरे बनाने के प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत प्रत्येक घर तक नल के माध्यम से कनेक्शन उपलब्ध करवाए जाएंगे।

आम्बासर में ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि प्रदेश में पिछले ढ़ाई वर्षों में उच्च शिक्षा के क्षेत्र में भी ऐतिहासिक कार्य हुए हैं। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने वर्ष 2013 में अपने कार्यकाल में श्रीडूंगरगढ़, कोलायत व खाजूवाला में राजकीय महाविद्यालय खोल दिए थे। लेकिन नई सरकार ने इन कॉलेजों को बंद कर दिया था। उन्होंने कहा कि मौजूदा राज्य सरकार ने इन महाविद्यालयों को खोलकर अध्यापन कार्य शुरू कर दिया है। मौजूदा सरकार के ढाई साल के कार्यकाल में राज्य में 123 नए कॉलेज खोले गए हैं। उन्होंने कहा कि कोलायत विधानसभा क्षेत्र में भी चार नए कॉलेज इस दौरान प्रारम्भ किए गए हैं। आगामी बजट में नापासर सहित राज्य में और नए महाविद्यालय खोलने के प्रयास होंगे।

मंत्री भाटी ने कहा कि कोलायत के मुख्यमंत्री ने कोविड काल में राज्य की चिकित्सा व्यवस्था को मजबूती प्रदान की है। सभी विधायकों को विधायक कोष की राशि चिकित्सा संस्थानों में आवश्य सुविधाओं पर खर्च करने की बात कही थी। उन्होंने कहा कि मेरे विधायक कोष की राशि से कोलायत विधानसभा क्षेत्र के  सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र व उप स्वास्थ्य केन्द्रों को आवश्यक चिकित्सा उपकरण उपलब्ध कराएं है। सभी सामुदायिक केंद्रों में चिकित्सकों के पद भर दिए गए हैं। क्षेत्र के प्रत्येक स्वास्थ्य केंद्र में आधारभूत सुविधाओं में इजाफा हुआ है।

इस दौरान लक्ष्मण कड़वासरा, गोपाल सिंह बीका, किसन चौधरी,  पंचायत समिति सदस्य जगदीश कस्वां, रामनिवास गोदारा, प्राचार्य अनामिका गोस्वामी, करणीसिंह चौहान,गाढ़वाला सरपंच गोविन्द राम, समसा के अजय बारठ, मौजूद रहे।

 

——