बीकानेर। आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत जिला स्तरीय बा-बापू वृक्षारोपण अभियान की शुरूआत शुक्रवार को महात्मा गांधी आदर्श गांव नौरंगदेसर से हुई। इसके तहत नौरंगदेसर के श्मशान गृह में 150 पौधे लगाए गए। इसकी शुरूआत सूचना प्रौद्योगिकी और संचार विभाग के प्रमुख शासन सचिव आलोक गुप्ता ने पहला पौधा लगाकर की। इस दौरान जिला प्रमुख श्री मोडाराम मेघवाल तथा जिला कलक्टर नमित मेहता भी मौजूद रहे।

इस अवसर पर श्री आलोक गुप्ता ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा प्रदेश भर में सघन पौधारोपण अभियान चलाया जा रहा है। बरसात के साथ ही इसकी शुरूआत हो गई है। इसी प्रकार घर-घर औषधि अभियान प्रारंभ किया गया है। इस अभियान के माध्यम से औषधि महत्व के पौधे हर घर तक पहुंचाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि जिले में भी इन कार्यक्रमों का प्रभावी क्रियान्वयन हो तथा इनकी नियमित माॅनिटरिंग की जाए। उन्होंने कहा कि सरकार का संकल्प है कि प्रदेश हरा-भरा हो और आमजन में पर्यावरण सरंक्षण और पौधारोपण के प्रति जागरूकता आए। उन्होंने कहा कि बा-बापू वृक्षारोपण अभियान के तहत लगाए गए पौधों की नियमित देखभाल की जाए।

इस अवसर पर राजीव गांधी सेवा केन्द्र में कार्यक्रम आयोजित हुआ। इसे संबोधित करते हुए जिला प्रमुख मोडाराम मेघवाल ने कहा कि राज्य सरकार व जिला परिषद द्वारा नौरंगदेसर में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित करवाए जाएगे। यह प्रयास सार्थक हों, इसके लिए जरूरी है कि इनमें जनभागीदारी रहे। उन्होंने कहा कि शिक्षा, स्वच्छता, खुले में शौचमुक्त स्तर को बरकरार खना जैसी पहल ग्रामीणों द्वारा की जाए।

जिला कलक्टर नमित मेहता ने कहा कि महात्मा गांधी के 150वें जयन्ती वर्ष एवं आजादी की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित होंगे। इसी श्रृंखला में यह पौधारोपण अभियान आयोजित किया गया है। प्रत्येक पौधे को एक-एक व्यक्ति गोद ले तथा इनकी देखभाल करें। पेड़-पौधों के बिना हमारे अस्तित्व की कल्पना भी नहीं की जा सकती, इसलिए अधिक से अधिक पौधे लगाएं।

उन्होंने कहा कि नौरंगदेसर को महात्मा गांधी आदर्श गांव के रूप में चयनित किया गया है। इस कारण यहां आधारभूत सुविधाओं में वृद्धि तथा स्वच्छता सहित विभिन्न गतिविधियां आयोजित की जाएंगी। ग्रामीण यह संकल्प लें कि गांव नशा मुक्त हो, यहां भी सभी बच्चियां पढ़ी-लिखी हों, किसी प्रकार की कुप्रथा नहीं हो। तभी वास्तव में गांव को आदर्श गांव के रूप में स्थापित किया जा सकेगा।

जिला कलक्टर ने कहा कि कोविड संक्रमण की दूसरी लहर का प्रभाव कम हुआ है, लेकिन इसका खतरा अभी बरकरार है। इसके मद्देनजर प्रत्येक व्यक्ति सतर्क रहे तथा बेवजह भीड़-भाड़ नहीं करें। हमारी छोटी सी लापरवाही नुकसानदायक हो सकती है।

जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ओम प्रकाश ने कहा कि ग्रामीण विकास की गतिविधियों में ग्रामवासी बढ़-चढकर भागीदारी निभाएं। नरेगा के तहत अधिक से अधिक लोग रोजगार प्राप्त करें। विकास अधिकारी दिनेश मिश्रा ने बा-बापू वृक्षारोपण अभियान की रूपरेखा के बारे में बताया। इस अवसर पर सूचना एवं प्रौद्योगिकी और संचार विभाग के संयुक्त निदेशक सत्येन्द्र सिंह, सहायक अभियंता मनीष पूनियां सहित ग्रामवासी मौजूद रहे।