बीकानेर, । जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक शुक्रवार को केंद्रीय भारी उद्योग, लोक उद्यम एवं संसदीय कार्य राज्य मंत्री तथा क्षेत्रीय सांसद श्री अर्जुनराम मेघवाल की अध्यक्षता में वर्चुअल प्लेटफार्म पर आयोजित हुई।

बैठक में उच्च शिक्षा राज्य मंत्री श्री भंवर सिंह भाटी, लूणकरनसर विधायक श्री सुमित गोदारा, नोखा विधायक श्री बिहारीलाल बिश्नोई, श्रीडूंगरगढ़ विधायक श्री गिरधारीलाल महिया भी वर्चुअल प्लेटफार्म पर जुड़े।

इस दौरान श्री मेघवाल ने कहा कि केंद्र सरकार की विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पात्र व्यक्तियों को मिले, इसके मद्देनजर सभी अधिकारी गंभीरतापूर्वक कार्य करें। दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना की नियमित समीक्षा की जाए तथा लंबित कनेक्शन नियमानुसार प्राथमिकता से दिए जाएं। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की निर्माण सामग्री लाने वाले भारी वाहनों के कारण क्षतिग्रस्त हुई सड़कों की सूची उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन, केंद्र सरकार का महत्वाकांक्षी कार्यक्रम है, इसका प्रभावी क्रियान्वयन किया जाए। सभी गांवों में जल एवं स्वच्छता समितियों को एक्टिव किया जाए तथा जनप्रतिनिधियों को इसकी प्रगति से अवगत करवाया जाए।

केन्द्रीय राज्य मंत्री ने कहा कि वयोश्री योजना के तहत पात्र लोगों का प्राथमिकता से चिन्हीकरण किया जाए, शीघ्र ही इसके लिए शिविर आयोजित किया जाएगा। उन्होंने अमृत योजना के तहत नगर निगम क्षेत्र में करवाए जा रहे कार्यों की प्रगति जानी। मानसून के दौरान बीकानेर शहर सहित जिले के निचले क्षेत्रों में जल भराव नहीं हो, इसकी कार्ययोजना बनाई जाए तथा निगम एवं जिला परिषद के माध्यम से इसका समयबद्ध क्रियान्वयन किया जाए।

केंद्रीय राज्य मंत्री ने कहा कि प्रभावी प्रबंधन के कारण जिले में कोरोना की दूसरी लहर पर नियंत्रण हुआ है, लेकिन अभी इसका खतरा बना हुआ है। इसके मद्देनजर अब भी पूर्ण सतर्कता रखी जाए। उन्होंने कोविड-19 के विरुद्ध वैक्सीनेशन के लिए जागरुकता का सघन अभियान चलाने के निर्देश दिए। श्री मेघवाल ने कहा कि एमएलए-एमपी निधि से जिले में चिकित्सा व्यवस्था सुदृढ़ीकरण के लिए की गई अनुशंसाओं का प्राथमिकता से क्रियान्वयन किया जाए। नाबार्ड के माध्यम से कक्षाकक्ष बनाने की स्वीकृतियों से संबंधित जानकारी जनप्रतिनिधियों को दी जाए। उन्होंने नहर बंदी के दौरान किए गए कार्यों की जानकारी ली।

श्री मेघवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना तथा पीएम किसान निधि योजना का लाभ किसानों को मिले। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न वितरण योजना के शत-प्रतिशत खाद्यान्न का वितरण सुनिश्चित किया जाए। एनएफएसए की पेंडिंग अपीलों का निस्तारण अति शीघ्र करने तथा प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना के तहत लक्ष्य प्राप्ति के निर्देश दिए। उन्होंने जिले में नए औद्योगिक क्षेत्रों, हवाई सेवाओं के विस्तार की संभावनाओं सहित विभिन्न केंद्र प्रवर्तित योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की।

उच्च शिक्षा राज्य मंत्री भंवर सिंह भाटी ने कहा कि दीनदयाल ग्राम ज्योति योजना के तहत वंचित ढाणियों के लिए लगभग 172 करोड़ रुपए के प्रस्ताव केंद्र सरकार को भिजवाए गए हैं। केन्द्र सरकार के माध्यम से शीघ्र ही यह राशि स्वीकृत करवाने की मांग रखी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत 2001 की जनगणना के आधार पर सड़कें बनाई जा रही है। वर्ष 2011 की जनगणना को इसका आधार बनाया जाए, जिससे अधिक से अधिक गांवों को इस योजना से जोड़ा जा सके। उन्होंने कहा कि राजस्थान की भौगोलिक स्थिति तथा कोरोना की वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए जल जीवन मिशन के तहत होने वाले कार्यों पर केन्द्र सरकार की भागीदारी 45 प्रतिशत से बढ़ाई तथा इसमें राज्य का हिस्सा न्यूनतम रखा जाए। साथ ही इसके तहत आमजन की 10 प्रतिशत राशि की भागीदारी की बाध्यता पर भी पुनर्विचार करने की बात रखी।

जिला कलक्टर नमित मेहता ने विभिन्न योजनाओं की प्रगति की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि वर्तमान में जिले में मनरेगा के तहत 64 हजार से अधिक श्रमिक नियोजित हैं। हाल ही में मनरेगा के तहत 80 करोड़ रूपए की नई स्वीकृतियां जारी की गई हंै। शहरी क्षेत्र में कोरोना के विरुद्ध वैक्सीनेशन के लिए प्रारंभ किया गया डोर टू डोर वैक्सीनेशन अभियान अब ग्रामीण क्षेत्रों में भी प्रारंभ कर दिया गया है। वर्तमान में आॅवरआॅल वैक्सीनेशन में बीकानेर, प्रदेश में छठे पायदान पर है। उन्होंने आग्रह किया कि केंद्र प्रवर्तित विभिन्न ऋण योजनाओं के तहत बैंकों द्वारा लाभार्थी के खाते में ऋण राशि हस्तांतरण समयबद्ध प्रक्रिया के तहत किया जाए, इसके लिए आवश्यक दिशा निर्देश जारी हों।

बैठक में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ओमप्रकाश, दिशा के मनोनीत अजमल भील, मांगीलाल मेघवाल,दिल्लू खां कोहरी तथा दासूड़ी सरपंच मोहनदान चारण सहित जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे। बैठक के दौरान केन्द्रीय राज्यमंत्री सहित सहित जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों ने दिशा समिति के पूर्व सदस्य श्री हुकमा राम मेघवाल के असामयिक निधन पर उनके प्रति संवदेना प्रकट की।

—–