बीकानेर,उप निदेशक कृषि (विस्तार) विभाग द्वारा डिग्गी निर्माण कार्यक्रम के तहत वर्ष 2021-22 के लक्ष्यों के मद्देनजर जिन किसानों ने डिग्गी निर्माण के लिए आवेदन किए थे, उनकी लॉटरी निकाली गई है। जिला प्रमुख मोडाराम मेघवाल, अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) बलदेवराम धोजक व उपनिदेशक (कृषि विस्तार) कैलाश चौधरी ने बुधवार को दो किसान प्रतिनिधियों की उपस्थिति में डिग्गी निर्माण की लॉटरी निकाली। उप निदेशक चौधरी ने बताया कि जिले में कुल 3 हजार 654 किसानों ने डिग्गी निर्माण के लिए आवेदन किए थे। इनमें सहायक निदेशक कृषि छत्तरगढ़ को 2 हजार 838 और सहायक निदेशक कृषि बीकानेर को 816 किसानों ने ई-मित्र के माध्यम से डिग्गी निर्माण के लिए आवेदन किए थे। उन्होंने बताया कि लक्ष्य से अधिक आवेदन प्राप्त होने के कारण डिग्गी निर्माण के लिए लॉटरी निकालनी पड़़ी।  चौधरी ने बताया कि प्रधान मंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत 100 किसानों और मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना में 1050 किसानों की लॉटरी निकालकर डिग्गी स्वीकृत की गई। प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के 50-50 किसानों की और मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना में सामान्य के 900, अनुसूचित जाति के 150 किसानों को डिग्गी निर्माण की स्वीकृति लॉटरी  के माध्यम से तय की गई है। प्रत्येक डिग्गी निर्माण पर सरकार द्वारा 3 लाख रूपये का अनुदान दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि विभाग को दो साल बाद डिग्गी निर्माण का लक्ष्य मिला था। इस अवसर पर सहायक निदेशक कृषि राम किशोर मेहरा, सहायक निदेशक कृषि छत्तरगढ़ कैलाश शर्मा, कृषि अधिकारी भैंरा राम गोदारा, सुभाष विश्नोई, मुकेश गहलोत, सांख्यिकी अधिकारी श्याम सुन्दर अग्रवाल व किसान प्रतिनिधि सहीराम गोदारा व एन.आर.दावां उपस्थित थे