बीकानेर। इन दिनों बजरी, क्ले एवं मुरम की रॉयल्टी को लेकर नए टेण्डर हुए हैं ऐसे में ठेकेदार के कार्मिकों के माध्यम से अत्यधिक वसूली की शिकायतें प्रारम्भ हो गई है।
भाजपा आईटी सेल के पूर्व जिलाध्यक्ष डूंगरसिंह तेहनदेसर ने बताया है कि कई वाहन चालकों एवं बजरी की खानों के मालिकों ने टेलीफोनिक रुप से एवं पत्र के माध्यम स्व उन्हें रॉयल्टी ठेकेदारों द्वारा मनमानी रॉयल्टी वसूलने की शिकायत की है, उन्होंने कहा है कि सरकार द्वारा निर्धारित रॉयल्टी दर से एक रुपया भी अधिक वसूलना गैर कानूनी है एवं विधि सम्मत नहीं है जो भी लोग यह कर रहे हैं वो पूर्णतया गलत है तत्काल प्रभाव से इसे बंद किया जाना चाहिए।
रॉयल्टी ठेकेदारों को समय रहते चेत जाना चाहिए अन्यथा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को शिकायत एवं टेचरी फांटा पर धरना, प्रदर्शन इत्यादि निर्णय लेने के फैसले पर रणनीति बनानी होगी।