बीकानेर, भारतीय जनता पार्टी शहर जिला बीकानेर द्वारा शनिवार को नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल के बीकानेर प्रवास के दौरान रविन्द्र रंगमंच सभागार परिसर में बीकानेर की विभिन्न समस्याओं के शीघ्र निराकरण और विकास से सम्बंधित प्रमुख मांगों को लेकर जिलाध्यक्ष अखिलेश प्रताप सिंह के नेतृत्व में ज्ञापन देते हुए मुख्य मार्ग पर जोरदार विरोध प्रदर्शन किया गया

ज्ञापन देने वाले प्रतिनिधिमंडल में जिलाध्यक्ष अखिलेश प्रताप सिंह के साथ प्रदेश कार्यसमिति सदस्य और पूर्व जिलाध्यक्ष डॉ. सत्यप्रकाश आचार्य, जिला महामंत्री मोहन सुराणा, जिला उपाध्यक्ष अशोक प्रजापत, गोकुल जोशी, उपमहापौर राजेंद्र पंवार, जिला मंत्री और मीडिया प्रभारी मनीष आचार्य सम्मिलित रहे।

शहर भाजपा द्वारा मंत्री धारीवाल को दिए गए विभिन्न ज्ञापनों में शहर में यातायात को सुगम करने के लिए शहर को दो भागों में बांटने वाले कोटगेट रेल्वे फाटक पर एलीवेटेड रोड अथवा रेल अंडरपास का निर्माण करने की संभावना को तलाश कर शीघ्र निर्माण कार्य प्रारंभ करवाने, बीकानेर हवाई अड्डे के विस्तार हेतु कोटा की भांति निशुल्क भूमि आवंटित किए जाने, पूर्व में अभियान के दौरान बने पट्टों से सम्बंधित लंबित प्रकरणों का निस्तारण कर गरीब भू-स्वामियों को राहत प्रदान करने और भ्रष्टाचार में लिप्त कर्मियों पर न्याय संगत कार्यवाही करने और शहर में निजी बिजली कम्पनी की मनमानी और गुंडागर्दी रोकने की मांग की गयी है।

ज्ञापन में बताया गया कि भ्रष्टाचार निरोधक विभाग के कब्जे में पट्टों की फाइलें होने के कारण गरीब आम जनता चिंतित और परेशान है तथा जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनी कमेटी 8 वर्षों के बाद भी इस पट्टा प्रकरण को निष्पादित नहीं कर सकी है जिसकी वजह से गरीब भू-स्वामी बैंक लोन, होम लोन, अनापत्ति प्रमाण पत्र एवं अन्य सुविधाओं से आज भी वंचित हैं।

ज्ञापन सौंपने से पूर्व शहर भाजपा कार्यकर्ताओं ने बड़ी संख्या में सर्किट हाउस के सामने एकत्रित होकर रविन्द्र रंगमंच के सामने राज्य सरकार, मुख्यमंत्री, मंत्री शांति धारीवाल और डॉ. बी.डी.कल्ला के खिलाफ जबरदस्त विरोध प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी की। युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष वेद व्यास, जिला उपाध्यक्ष भगवान सिंह मेड़तिया और पार्षद अरविन्द किशोर आचार्य इत्यादि पदाधिकारियों के साथ कार्यकर्ताओं ने जोरदार विरोध प्रदर्शन किया।

शहर भाजपा के विरोध प्रदर्शन और ज्ञापन कार्यक्रम में भारतीय जनता पार्टी के जिला, मंडल, मोर्चा, प्रकल्प और प्रकोष्ठ पदाधिकारियों के साथ साथ जिला कार्यसमिति सदस्यों,पार्षद, पार्षद प्रत्याशी, पूर्व पदाधिकारी एवं अन्य कार्यकर्ताओं ने बड़ी संख्या में हिस्सा लेते हुए राज्य सरकार के खिलाफ जबरदस्त नाराजगी और विरोध प्रदर्शन किया।
जिला मंत्री और मीडिया प्रभारी मनीष आचार्य ने बताया कि प्रदर्शन के दौरान बड़ी संख्या में भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ताओं ने हाथों में राज्य सरकार की नाकामियों से भरे स्लोगन वाली तख्तियां, पार्टी के झंडे, बैनर और काली पट्टियाँ बांधकर जनविरोधी, नाकारा, निकम्मी सरकार और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उनके मंत्रियों के खिलाफ नारेबाजी कर अकर्मण्यता का आरोप लगाते हुए प्रदेश की लचर कानून व्यवस्था के खिलाफ जोरदार विरोध प्रदर्शन किया।
विरोध प्रदर्शन के दौरान कई बार युवा भाजपा कार्यकर्ताओं की पुलिस के साथ धक्का मुक्की और तीखी नोकझोंक भी हुई।

मंत्री धारीवाल के रविन्द्र रंगमंच से रवाना होते समय मुख्य मार्ग पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने काले झंडे और कपड़े लहराकर उनके सामने विरोध प्रदर्शन और नारेबाजी भी की।

भाजपा जिलाध्यक्ष अखिलेश प्रताप सिंह ने बताया कि राज्य सरकार बीकानेर शहर में पूर्व में प्रशासन शहरों के संग अभियान के दौरान जारी किए गए पट्टों से संबंधित समस्याओं का भी अभी तक निराकरण नहीं कर पाई है और जायज रूप से बने हुए पुराने पट्टों के लिए भी आमजन को अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है ।
उन्होंने बताया कि भाजपा द्वारा लोकतांत्रिक तरीके से मंत्री धारीवाल को दिए गए ज्ञापन में पूर्व में अभियान के दौरान जायज रूप से बने हुए पट्टों से सम्बंधित समस्याओं का शीघ्र हल करने, नए पट्टे जारी करने की प्रक्रिया में पूर्ण पारदर्शिता बरतने, कोटगेट रेल्वे फाटक की समस्या को अतिशीघ्र हल करवाने, हवाई अड्डे के विस्तार के लिए कोटा की भांति निशुल्क भूमि उपलब्ध करवाने, रेल्वे अंडर ब्रिजों के निर्माण, निजी बिजली कम्पनी की मनमानी और गुंडागर्दी रोकने तथा शहर के विकास से सम्बंधित अन्य मांगों को शामिल करते हुए इनके शीघ्र हल की मांग की गई है ।

प्रदर्शन स्थल पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए भाजपा जिलाध्यक्ष अखिलेश प्रताप सिंह ने कहा कि अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली राज्य की कांग्रेस सरकार पूरी तरह से नाकारा और सभी मोर्चों पर विफल साबित हो चुकी है । उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार के पास राजस्थान के लिए कोई भी विकास का रोड मैप नही है। आज राजस्थान पुनः बीमारू राज्य की श्रेणी में शुमार हो गया और भ्रष्टाचार के मामलों में राजस्थान देश में पहली पायदान पर है, महिला अत्याचार, दलित अत्याचार के मामलों में राजस्थान देश भर में प्रथम स्थान पर है। इसी प्रकार कर्ज माफी के नाम पर आज भी 50 हज़ार किसान बाट जोह रहे है। बेरोजगारी भत्ता और संविदा कर्मियों को स्थायी करने के नाम पर युवा बेरोजगार अपने आप को सिर्फ ठगा महसूस कर रहे है। आज प्रदेश में बेरोजगारी चरम पर है, रोजगार के नाम से सरकारी घोषणाएं नाकाफी साबित हुई है। उन्होंने कहा कि बिजली बिलों में लगातार बढ़ोतरी से आम नागरिक पीड़ित है, सरकार सभी मोर्चो पर विफल साबित हुई है। ऐसी जन विरोधी, सरकार को उखाड़ फेंकना आवश्यक हो गया है और राज्य सरकार की नाकामियों को लेकर भाजपा कार्यकर्ताओं ने सड़कों पर उतर कर संघर्ष करने का ऐलान किया है ।

प्रदेश कार्यसमिति सदस्य और पूर्व जिलाध्यक्ष डॉ सत्यप्रकाश आचार्य ने कहा ने कहा कि इस सरकार में भ्रष्टाचार चरम पर है और सरकार अपने वादों को पूरा नहीं कर पाई है। राज्य में पूरी तरह से अभूतपूर्व अराजक स्थिति बनी हुई है, राज्य अपराधों की संख्या में पूरे देश में अव्वल स्थान पर हैं और सरकार बहू,बेटियों,युवाओं, किसानों और अन्य वर्गों की सुरक्षा करने की बजाय केवल अपनी कुर्सी को बचाने के जुगाड़ में लगी हुई है ।

उन्होंने कहा कि राज्य में अपराधिक घटनाओं की पराकाष्ठा हो चुकी है, क्राइम रिपोर्ट में राज्य अव्वल नंबर पर है और इस प्रकार की राज्य के सभी राज्य में कभी नहीं बनी है। आचार्य ने कहा कि राज्य में बाल तस्करी, बहू बेटियों का अपहरण, बेलगाम होते बजरी माफिया, किसानों की आत्महत्या जैसी घटनाएं चरम पर है ।
जिला महामंत्री मोहन सुराणा ने कहा कि किसानों को कर्जमाफी और बेरोजगारी भत्ता देने का वादा अपने घोषणापत्र में करने वाली झूठे वादों की सरकार ने शासन में आने के बाद अपने सभी वादों को भुला दिया है और मतदाताओं के साथ बेईमानी की है।
जिला उपाध्यक्ष अशोक प्रजापत ने कहा कि राज्य में अपराध चरम पर है, अपराधियों के हौसले बुलंद हैं और पुलिस अपना इकबाल खो चुकी है। राज्य में पहली बार कई सारे व्यापारियों पर गोलीबारी की घटनाएं हुई है जिससे आमजन में भय का माहौल पैदा हो चुका है। सट्टे जुए जैसे अपराध पुलिस संरक्षण में बेखौफ चल रहे हैं।
जिला उपाध्यक्ष भगवान सिंह मेड़तिया ने कहा कि राज्य में बिजली के बिलों में बेतहाशा वृद्धि हुई है और आम आदमी के लिए महीने का बिजली बिल चुकाना भारी हो गया है राज्य में निजी बिजली कंपनियों द्वारा की जा रही अवैध वसूली परवान पर है, राज्य के किसानों को फसली ऋण भी वितरित नहीं किया जा रहा है जबकि राज्य सरकार द्वारा केवल बड़े-बड़े वादे किए जा रहे हैं

युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष वेद व्यास ने कहा कि राज्य सरकार के कुप्रबंधन के चलते पूरा प्रदेश त्राहि त्राहि कर रहा है। सरकार के खिलाफ युवा वर्ग सहित प्रदेश के सभी वर्गों में जबर्दस्त नाराज़गी है। राज्य के किसानों और नौजवानों को झूठे वादों के दम पर बरगला कर सत्ता में आई कांग्रेस सरकार मात्र ढाई साल में ही जनता का विश्वास खो चुकी है।
विरोध प्रदर्शन और ज्ञापन कार्यक्रम में जिलाध्यक्ष अखिलेश प्रताप सिंह, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य और पूर्व जिलाध्यक्ष डॉ सत्यप्रकाश आचार्य, उप महापौर राजेंद्र पंवार, जिला महामंत्री मोहन सुराणा, नरेश नायक, जिला उपाध्यक्ष अशोक प्रजापत, गोकुल जोशी, भगवान सिंह मेड़तिया,मधुरिमा सिंह, निर्मला खत्री, जिला मंत्री अरुण जैन, जिला मंत्री और मीडिया प्रभारी मनीष आचार्य, कौशल शर्मा,इंद्रा व्यास, असद रजा भाटी, मण्डल अध्यक्ष नरसिंह सेवग, चंद्रप्रकाश गहलोत, विनोद करोल, कमल किशोर आचार्य, दिनेश महात्मा, मुकेश ओझा, मोर्चा अध्यक्ष वेद व्यास, श्यामसुंदर चौधरी, राजाराम विश्नोई, सुमन छाजेड, सोहनलाल चांवरिया, ओबीसी मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष हुकुमचंद सोनी, पार्षद अरविन्द किशोर आचार्य, संजय गुप्ता, माणकलाल प्रजापत, रामदयाल पंचारिया, हिमांशु शर्मा, मो.फ़ारूक चौहान, , शिखरचन्द डागा , कमल गहलोत, सोहन सिंह पड़िहार, विक्रम सिंह राजपुरोहित, दुष्यंत तंवर, प्रकाश मेघवाल, मदनगोपाल सोनी, दाऊ शर्मा, चोरुलाल सुथार, दीपक गहलोत, भारती अरोड़ा, हुसैन डार, निरंजन सारस्वत, रासबिहारी जोशी, महेश शुक्ला, अर्जुन कुमावत, शिव मेघवाल, विजय सिंह पड़िहार, अर्जुन सिंह इत्यादि कार्यकर्ता पदाधिकारी उपस्थित रहे।