बीकानेर,नागौर।ब्रह्मलीन गो सेवी संत दुलारामकुलरिया की पुण्यतिथि पर शुक्रवार को गो चिकित्सालय मेंकलश यात्रा के साथ भागवत कथा का विधिवत पूजा अर्चना के साथ शुभारंभ हुआ। कथा प्रभारी श्रवण कुमार सेन बताया कथा से पूर्व गो चिकित्सालय के संस्थापक महामंडलेश्वर कुशालगिरी जी महाराज के सानिध्य में भव्य कलश यात्रा निकाली गई। यात्रा भैरूजी थान से परिक्रमा करते कथा स्थली पहुँची।जिसमे श्रद्धालु ओर महिलाओं ने राजस्थानी रंग बिरंगी पोशाक पहन रखी थी।महिलाओं ओर युवतियों ने सर पर कलश धारण कर मंगलगीत गाते नृत्य करते हुए यात्रा की शोभा बढ़ाते हुए चल रही थी। भक्तों ड्रोन से जगह – जगह रास्ते पर यात्रा का पुष्पवर्षा से स्वागत किया गया। कथा के मुख्य यजमान नृसिंहराम भाटी जोड़े के साथ बने। कथा के प्रथम दिन कथावाचक ममता देवी ने भागवत कथा रसपान करते हुए पादुर्भाव, शुक्रदेव का जन्म भगवान श्रीकृष्ण व कर्ण के सवांद के बारे में विस्तार पूर्वक बताया।पंडित पवन पाठक ने मंच संचालन निष्पादित किया। वृंदावन से आई संगीत मंडली ने भजनों की शानदार प्रस्तुति दी। जसवंतगढ़ से टीम द्वारा भगवान शिव – पार्वती व बाण शैय्या पर भीष्म पितामह की मनमोहक सजीव झांकियों का प्रस्तुति देकर उपस्थित जनसमूह को भक्ति भाव से भाव विभोर कर दिया। कथा में अपने उदगार व्यक्त करते हुए कुशालगिरी महाराज ने कहा गौमाता की सेवा करने से मनुष्यों को यम की यातनाओं से मुक्ति मिलती है। इस अवसर पर प्रेम सिंह सोलंकी , शिव ,पीर, मेघराज ,प्रेम और शंकरलाल ने दो गाड़ी सब्जी भेजकर पुण्यलाभ लिया।कथा में श्रीनाथ धुणा के महंत सुरजानाथ व गोविंदराम जी महाराज का आवागमन हुवा।