बीकानेर, महीने की पहली तारीख को कई नियमों में बदलाव होता है, जिसका सीधा असर सामान्य व्यक्तियों पर पड़ता है। 1 अगस्त से भी कई नियमों में बदलाव होने जा रहा है। आइए समझते हैं कि ये नियम कैसे आपको प्रभावित करेंगे और इन नियमों के लागू होने पर आपकी जेब पर क्या असर पड़ेगा। अब अगर महीने की पहली तारीख पर छुट्टी रहेगी तब भी आपके खाते में सैलरी और पेंशन क्रेडिट होगा। ऐसा इसलिए क्योंकि भारतीय रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने घोषणा की थी नेशनल ऑटोमेटेड क्लियरिंग हाउस (NACH) 1 अगस्त से सभी उपलब्ध रहेगा। यानी अब अगले महीने से जहां पहली तारीख को सैलरी खाते में आएगी वहीं, EMI, म्युचुअल फंड किश्त, गैस, टेलीफोन, बिजली का बिल, पानी के बिल का भी भुगतान किया जा सकेगा। जाने फिर कैसे हुआ महंगा जून में ही रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने अपने नोटिफिकेशन में कहा था कि 1 अगस्त से एटीएम का इंटरचेंज फीस 15 रुपये से बढ़ाकर 17 रुपये कर दिया गया है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने 9 साल बाद इंटरचेंज फीस में इजाफा किया है। यह बढ़ोतरी एटीएम पर आने वाले खर्च और भविष्य के विस्तार योजनाओं को ध्यान में रखकर किया गया है। जबकि नाॅन-फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन पर भी शुल्क 5 रुपये से बढ़ाकर 6 रुपये कर दिया गया है। इस महीने की शुरुआत में इंडियन पोस्ट पेमेंट बैंक (IPPB) ने कहा था कि अब डोर स्टेप बैंकिंग सुविधा के लिए शुल्क देना पड़ेगा। IPPB के अनुसार अब हर बार डोर स्टेप बैंकिंग सुविधा के लिए 20 रुपये प्लस जीएसटी शुल्क देना होगा। अभी तक यह सर्विस बिलकुल फ्री थी। यानी अब सुकन्या समृद्धि योजना जैसी पोस्ट ऑफिस से जुड़ी योजनाओं के लिए अगर आप घर पर सेवाएं लेते हैं तो 20 चार्ज देना होगा। आईसीआईसीआई बैंक ने सेविंग अकाउंट होल्डर के लिए नकद लेनदेन, एटीएम इंटरचेंज और चेकबुक चार्ज के नियमों में बदलाव किया है। ये नए नियम 1 अगस्त 2021 से लागू होने वाले हैं। बैंक की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक छह मेट्रो सिटी में ग्राहक एक महीने के भीतर सिर्फ 3 ट्रांजैक्शन फ्री में कर सकेंगे। इसके बाद के ट्रांजैक्शन पर चार्ज लगेगा। वहीं, अन्य लोकेशन के लिए पांच ट्रांजैक्शन की छूट दी गई है। लिमिट से ज्यादा की लेनदेन पर बैंक 20 रुपए का चार्ज लेगा। ये चार्ज प्रति फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन होगा। वहीं, नॉन फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन पर 8.50 रुपए का चार्ज लगेगा। आपको बता दें कि आईसीआईसीआई बैंक ने प्रति माह कुल 4 मुफ्त नकद लेनदेन की अनुमति दी हुई है। वहीं, 4 बार पैसा निकालने के बाद आपको चार्ज देना होता है। इसके अलावा होम ब्रांच से महीने में 1 लाख रुपये तक कैश निकालने पर कोई शुल्क नहीं देना होगा। लेकिन 1 लाख रुपये से अधिक कैश ट्रांजैक्शन पर 150 रुपये देने होंगे।