बीकानेर भारतीय सेना की जासूसी के मामले में दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने मोहसिन नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया है. बताया जा रहा है कि मोहसिन लगातार पाकिस्तान एम्बेसी के टच में था और वो तीन बार पाकिस्तान भी जा चुका था. पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI के लिए जासूसी करने के मामले में अब तक कुल तीन गिरफ्तारियां हो चुकी हैं. मोहसिन से पहले पुलिस ने राजस्थान के पोखरण से हबीबुर्रहमान और भारतीय सेना के नायक परमजीत दाहिया को गिरफ्तार किया है.

क्राइम ब्रांच (Crime Branch) ने मोहसिन को दिल्ली के तुर्कमान गेट इलाके से गिरफ्तार किया है. मोहसिन पेशे से स्क्रैप डीलर है. मोहसिन पर परमजीत की बहन को पैसे देने का आरोप है और वो पिछले तीन साल से हबीबुर्रहमान के भी टच में था.पुलिस ने बताया कि मोहसिन तीन बार पाकिस्तान (Pakistan) भी जा चुका था और वो लगातार पाकिस्तान एम्बेसी के टच में था. जानकारी के मुताबिक, मोहसिन पाकिस्तान से आने वाला पैसा परमजीत की बहन के बैंक अकाउंट में भिजवाता था.

इस मामले में पहले गिरफ्तार हुए सेना के नायक परमजीत दहिया और हबीबुर्रहमान को क्राइम ब्रांच पोखरण और आगरा स्थित भारतीय सेना के दो अहम सेंटर लेकर भी गई थी जहां पर सेंध लगाकर पाकिस्तान की ISI भारतीय सेना की जासूसी करवा रही थी.

सेना जासूसी केस में अहम खुलासा, नायक परमजीत को ISI हर महीने दे रहा था 50,000 रुपए
पोखरण में आर्मी को सब्जी सप्लाई करने वाला शख्स ISI के लिए करता था जासूसी, गिरफ्तार पोखरण से गिरफ्तार ISI जासूस का सेना से भी लिंक, मिलिट्री इंटेलिजेंस ने आगरा में कई को रडार पर लिया।