बीकानेरसोनू खान की अनूठी पहल महिला होकर बांधती है साफे राजस्थान अपने कल्चर और कला के लिए जाना जाता हैं । और यहां पर कलाकार भी अपनी कला से सभी का मन मोह लेते है। एक ऐसी ही कला 21 साल की सोनू खान ने सीखी है साफे बांध ने की कोशिश करती आरही  है। कम उम्र में सोनू खान अपनी राजस्थानी साफ बंधने की  पहचान को उस मुकाम पर पहुंचना चाहती जहां राजस्थान का नाम रोशन हो सके।

बीकानेर अपनी कला और संस्कृति के बारे में जाना जाता है। और यहां पर अपनी कला से भी लोग सभी का मन मोह लेते है। बीकानेर की 21 साल की सोनू खान कम उम्र में ही साफ बांध ने ने भी मुहिम छेड़ी उसी के तहत अब सोनू खान  कम समय के अंदर कई तरह के साफे बांध देती है। अपने पिता नाना जी और अब भाई को साफा बांधते देखकर उसके मन मे आया कि वो भी साफा बांधे। अपनी बहन की ख्वाईश को पूरा करने के लिए भाई वाशिम खान ने उसे साफा बांधना सिखाया और 15 दिन में सोनू ने अब अलग अलग तरह के साफे  बांध देती है। सोनू का कहना है कि लड़कियां भी हर काम को कर सकती हे। इसके साथ ही राजस्थान की साफ बांध ने  कला को सभी जगह पहुंचाने के लिए उन्होंने साफा बंधना सीखा है।