बीकानेर, बीएसएनएल कर्मचारीेयों व अधिकारीयों के सयुक्त मंच एयूएबी ,नयी दिल्ली के राष्ट्रीय आहवान के तहत आंदोलन के दूसरे चरण मे आज दिनांक 28 जुलाई 2021 को बीकानेर मे भी पब्लिक पार्क स्थित महाप्रबन्धक, बीकानेर व्यवसाय क्षेत्र कार्यालय के गेट पर एयूएबी के बैनर तले विभिन्न यूनियनो के कर्मचारी व अधिकारी राष्ट्रव्यापी आहवान के तहत एक दिन की भूख हड़ताल पर रहे।

एयूएबी ,बीकानेर के जिला प्रवक्ता ताहिर हुसैन ने बताया कि आंदोलन के दूसरे चरण मे यह भूख हड़ताल निम्न मांगो के निराकरण की मांग को लेकर की गयी थी इससे पूर्व 15 जुलाई को इन्ही मांगो को लेकर जोरदार पर्द्रषन किया था।

1-बीएसएनएल को 4जी सेवा आरम्भ करने की अनुमति तुरन्त दे तथा 5जी सेवा की तैयारियां भी आरम्भ की जावे।
2-दूरसंचार विभाग तुरन्त बकाया राषि 39,000 करोड रु का भुगतान बीएसएनएल को करे।
3-बीएसएनएल को  वैष्विक विके्रताओ से उपकरण खरीदने की तुरन्त अनुमति प्रदान की जावे।
4-मोबाईल उपकरणो की खरीद मे बीएसएनएल के साथ भेदभाव न किया जावे।
5-बीएसएनएल कर्मचारियों के लिए तीसरा वेतन संषोधन लागू करे।
6-बीएसएनएल सेवानिवृत्त कर्मचारियों के लिए पेंषन संषोधन लागू करे।
7-बीएसएनएल के सीधे भर्ती कर्मचारियों के लिए 30 प्रतिषत अधिवर्षता लाभ लागू करे।
8-बीएसएनएल के पुनरुत्थान मे रोड ब्लाॅक न बनाये।
9-उपकरणो की खरीद मे बीएसएनएल को समान अवसर प्रदान करे।
10-बीएसएनएल के मोबाईल टावॅर व आप्टिकल फाईबर को बेचकर कमाई करने की योजना बन्द की जावे।
11-सैलरी का भुगतान अन्तिम कार्य दिवस को किया जावे।

जिला प्रवक्ता ताहिर हुसैन ने बताया कि हड़ताल के दौरान कोविड-19 की  गाईडलाईन की पालना करते हुए भोजनवाकास मे एक सभा का आयोजन किया गया।

सभा को सम्बोधित करते हुए एयूएबी,बीकानेर के जिला संयोजक गुलाम हुसैन ने कहां कि वर्तमान परिस्थ्तिियो मे संचार क्षेत्र मे भारी प्रतिस्पर्धा है तथा बीएसएनएल कर्मचारी व अधिकारी विपरीत परिस्थितयों मे भी पूर्ण संकल्प शक्ति के साथ उपभोक्ताओ को अपनी सेवायें प्रदान कर रहे है लेकिन आज केन्द्र सरकार की पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने की नीति ने बीएसएनएल की बदतर हालत कर दी है कर्मचारियों की छंटनी करने के उपरान्त भी केन्द्र सरकार बीएसएनएल को समाप्त करने के बहाने ढूंढ रही है जोकि अब बर्दाशत से बाहर है।

एयूएबी,बीकानेर के जिला अध्यक्ष उम्मेद सिंह राठौड ने कहां कि सरकार द्वारा बीएसएनएल  की 4जी  सेवाओं में निर्मित बाधाओं की वजह से  बीएसएनएल  और कर्मचारियों के दिन प्रतिदिन अंधकारमय होते जा रहे है बीएसएनएल को सभी ने खून पसीने से सींचा है इसे बबार्द नही होने दिया जाएगा।

सभा को सम्बोधित करते हुए बीएसएनएनईयू परिमण्डल अध्यक्ष कमल सिंह गोहिल ने केन्द्र सरकार से बीएसएनएल की दूरंसचार विभाग के पास बकाया राषि 38000 करोड का भुगतान तुरन्त करवाने की मांग कि ताकि बीएसएनएल 4जी व 5जी व मोबाईल उपकरणो की खरीद कर सके तथा उपभोक्ताओ को सस्ती व सुलभ संचार सेवा दे सके। एगोटा के जिला सचिव मदन पुरी ने केन्द्र सरकार से तुरन्त तीसरा वेतन संषोधन लागू करने की मांग कि तथा नये भर्ती कर्मचायिों के लिए 30 प्रतिषत अधिवर्षता लाभ लागू करने की भी मांग की।

एसएनईए के जिला सचिव महेश व्यास ने कहां कि जब जब देष मे तुफान,बाढ आदि आपदाएं आई,बीएसएनएल हमेषा लोगो की सहायता के लिए तत्पर रहा है, जबकि निजी कम्पनियां ऐसे समय मे अपनी सेवायें बन्द कर देती है फिर भी इसे नयी तकनीक से अलग रखना समझ से परे है।

सेवा के जिला सचिव मनोज चैहान ने कहां कि सैलरी का भुगतान अन्तिम कार्य दिवस को करने की मांग की।

सेवानिवृत यूनियन के जिला सचिव रषीद अहमद ने सेवानिवृत्त कर्मचारियों के लिए पेंषन संषोधन लागू करने की मांग की।

सभा मे एयूएबी के जिला प्रवक्ता ताहिर हुसैन, बीएसएनएलईयू के राजेन्द्र बिनावरा,मौ गुलजार भाटी, मौ रमजान,ओपी भार्गव,सुनील सिंह, मारुफ खान,मुन्ना यादव,लक्ष्मी नारायण एनएफटीई के परिमण्डल उपाध्यक्ष गिरीराज पारीक, एगोटा के राकेष पायल,एसएनईए के नमन गोस्वामी तथा अन्य कर्मचारी व अधिकारी भी उपस्थित थे।

एयूएबी ,बीकानेर के जिला प्रवक्ता ताहिर हुसैन ने बताया कि सभा स्थल पर संचारकर्मियों ने केन्द्र सरकार मुर्दाबाद, संचार मंत्री मुर्दाबाद, कर्मचारी अधिकारी एकता जिन्दाबाद आदि नारे लगाकर अपना रोष व्यक्त किया